भारतीय क्रिकेट के कोच का जाना तय!

BCCI ने कोच और सपोर्ट स्टाप के मंगाए आवेदन

टीम के हैड कोच रवि शास्त्री और सपोर्ट स्टाफ का कार्यकाल वेस्टइंडीज दौरे तक के लिए है।

वर्ल्डकप सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद अब भारतीय क्रिकेट में उथलपुथल का दौर है। बड़े पैमाने पर फेरबदल किया जा रहा है।  भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने टीम के हैड कोच रवि शास्त्री और पूरे उनके सपोर्ट स्टाफ को बदलने का मन बनाते हुए नए आवेदन आमंत्रित किए हैं।

BCCI ने मंगलवार को टीम मुख्य कोच, बल्लेबाजी कोच, गेंदबाजी कोच, फील्डिंग कोच, फिजियोथेरेपिस्ट, स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग कोच और प्रशासकीय मैनेजर के पद के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इसके लिए BCCI ने 30 जुलाई अंतिम तारीख निर्धारित की है। इसमें बता दें कि टीम इंडिया का मौजूदा कोचिंग स्टाफ इस भर्ती प्रक्रिया में स्वत: ही शामिल समझा जाएगा।

गौरतलब है कि वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल में मिली हार के बाद टीम में मतभेद और प्लेइंग इलेवन को लेकर विवाद सामने आया था, जिसके बाद रवि शास्त्री को हटाया जाना तय हो गया था।

बता दें कि टीम के हैड कोच रवि शास्त्री का कॉन्ट्रैक्ट वेस्टइंडीज दौरे तक है। वहीं सपोर्ट स्टाफ में शामिल गेंदबाजी कोच भरत अरुण, बल्लेबाजी कोच संजय बांगर, फील्डिंग कोच आर श्रीधर का कार्यकाल वर्ल्ड कप के 45 दिन बाद तक बढ़ाया गया है। ये सभी 3 सितंबर तक चलने वाले वेस्टइंडीज दौरे तक टीम के साथ बने रहेंगे।

रवि शास्‍त्री के टीम के हैड कोच रहते टीम कोई बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीत पाई है। इसके उलट टीम लगातार विवादों में घिरी रही। विश्व कप के दौरान तो टीम में गुटबाजी की खबरें आई। इनके मुताबिक टीम में एक गुट विराट कोहली के साथ है, जबकि दूसरा रोहित शर्मा के साथ। ये भी बताया जा रहा है कि मैच और टूर्नामेंट के दौरान टीम के मामले में कोच शास्त्री और कप्तान विराट अपनी मनमानी करते हैं। इसके चलते टीम में विवाद का हालात बन गए हैं। शास्त्री के कार्यकाल में हालांकि टीम इंडिया टेस्ट की नंबर एक टीम बनींं और साल के शुरुआत में ही टीम इंडिया पहली बार ऑस्ट्रेलिया में कोई सीरीज जीतने में सफल रही

बोर्ड जहां टीम इंडिया के नए हैड कोच और सपोर्ट स्टाफ को रखने की तैयारी कर रहा है, लेकिन उसके सामने एक बड़ी परेशानी है। दरअसल कोच की नियुक्ति क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के अनुमोदन के बाद ही होता है। मौजूदा कोचिंग स्टाफ सीएसी ने ही रखा है। इस समिति ने अनिल कुंबले और रवि शास्‍त्री को हेड कोच पद पर नियुक्‍त किया था। सीएसी के सदस्‍य सचिन तेंडुलकर और सौरव गांगुली हितों के टकराव के मामले में पहले ही अपना इस्‍तीफा बोर्ड को सौंप चुके हैं। एक अन्य सदस्य वीवीएस लक्ष्मण हैं। सचिन और सौरव के इस्तीफे के बाद नए कोचिंग स्टाफ को अनुमोदन किससे मिलेगा, ये परेशानी बोर्ड के सामने रहेगी क्योंकि सीएसी के सदस्यों के मामले में फिर हितों के टकराव का मसला आएगा।

बहरहार भारतीय टीम 3 अगस्‍त से 3 सितंबर तक वेस्‍टइंडीज दौरे पर रहेगी। इस दौरे के बाद भारतीय टीम का घरेलू सीजन शुरू होगा। 15 सितंबर से भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज खेलेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.