धमकी और डर के बीच SDM ने शादी रचाई

रात के 12 बजे… मंदिर का दरवाजा खुला और हुई SDM की शादी

Kusheenagar: एक SDM इतना कैसे बेबस हो सकता है कि आधी रात को मंदिर खुलवाकर शादी कर सकता है। वह भी लड़की के डर से शादी । खबर सौ फिसदी शादी है। खबर यह है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कुशीनगर (Kushinagar) में देर रात एक एसडीएम (SDM) को यौन शोषण (Sexual Exploitation) का आरोप लगाने वाली अपनी महिला मित्र (Female Friend) से शादी रचानी (Marriage) पड़ी। जानकारी के मुताबिक खड्डा तहसील में एसडीएम रहे दिनेश कुमार की पूर्व महिला मित्र ने उनपर शादी का झांसा देकर शारीरिक शोषण (Rape On The Pretext Of Marriage) करने का आरोप लगाया था। महिला का आरोप है कि शादी का झांसा देकर एसडीएम चार साल तक उसका शारीरिक शोषण करते रहे। और कई बार उसका अबॉर्शन कराया (Abortion). पीड़िता की मानें तो शादी का दबाव बनाने पर SDM ने उसकी बुरी तरह पिटाई भी की।

शुक्रवार को कलेक्ट्रेट के एडीएम ऑफिस में यह फिल्मी ड्रामा दिन भर चलता रहा। इस मामले में खुद को बुरी तरह से घिरता देख एसडीएम शादी के लिए राजी हुए, जिसके बाद देर रात पडरौना नगर के गायत्री मंदिर में से दोनों की बाकायदा शादी कराई गई। शादी में गवाह के रूप में पडरौना सदर एसडीएम रामकेश यादव और हाटा के एसडीएम प्रमोद तिवारी बने।

बता दें कि पूर्व में खड्डा तहसील में तैनात रहे एसडीएम दिनेश कुमार पर महिला ने शादी का झांसा देकर शोषण का गंभीर आरोप लगाया था। कुछ दिन पूर्व दिनेश कुमार का हापुड़ जिले में स्थानांतरण (ट्रांसफर) हुआ था जिसके बाद वो जॉइन करने हापुड़ चले गये थे। शुक्रवार को जब वो अपना सामान लेने आए तो साथ में रह रही महिला ने उनपर शादी करने का दबाव बनाया। लेकिन एसडीएम इससे मुकर गये तो महिला ने उनकी शिकायत करने का मन बनाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.