“संस्कृति भारती विश्वसम्मेलन” का आयोजन ९ से ११ नबम्बर तक दिल्ली में

17 देशों से 4455  प्रतिनिधि होंगे शामिल और कई भव्य प्रदर्शनी का भी होगा आयोजन

Sunil Misra New Delhi :-  भारत की राजधानी दिल्ली में संस्कृति भारती विश्वसम्मेलन का एक भव्य आयोजन किया जा रहा है जिसके विषय में संस्कृति भारती विश्वसम्मेलन के स्वागत समिति के अध्यक्ष माननीय केंद्रीय मंत्री हर्ष वर्धन विज्ञान एवं तकनीकी, पृथ्वी विज्ञान, स्वास्थ एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने आज एक प्रेससवार्ता आयोजित करके पूरी जानकारी दी I इस विश्वसम्मेलन का आयोजन छतरपुर मंदिर परिसर, दिल्ली में दिनांक 09 नवम्बर से 11 नवम्बर तक तीन दिन होगा I जिसमे भारत के अतिरिक्त 17 देशों से 4455  प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे और भारत के भी लगभग सभी राज्यों से प्रतिनिधि (मिजोरम एवं नागालैंड छोड़कर ) शामिल होंगे. ये सभी लोग अपने खर्चे से आएंगे और सभी संस्कृत भाषी एवं दायित्ववांन कार्यकर्ताओं का प्रवेश संभव होगा. यहां संस्कृत परिवारों से संस्कृतभाषी, मातृभाषी संस्कृत बोलने वाले बालक भी होंगे. इस विश्वभारती सम्मलेन में कई भव्य प्रदर्शनी का आयोजन भी होगा. जैसे :
* “संस्कृत में विज्ञान” विषय पर प्रदर्शनी. * “अर्थशास्त्र” प्रदर्शनी * “संस्कृत डॉक्यूमेंट्री”, *”पाण्डुलिपि की प्रदर्शनी”‘ * “वास्तु प्रदर्शनी” * “संस्कृत शिलालेखों की प्रदर्शनी”, *” कविश्रेष्ठ कालिदास के जीवन पर प्रदर्शनी” *भारत के वकास वाला तट “तद विषयिणी प्रदर्शंनी” ,
प्रदर्शनी का उदघाटन ९ नवम्बर को 9.00 बजे सुबह विदेश राज्य मंत्री श्री मुरली धरन जी करेंगे और विश्वसंम्मेलन का उद्घाटन ११.00 बजे होगा. फिर संघ के सह कार्यवाहक श्री सुरेश जी सोनी जी का उद्बोधन होगा. उसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल जी पुस्तक विमोचन करेंगे.
१० नवम्बर को ४.३० बजे महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी जी महाराज की अध्यक्षता में सभी संस्कृत प्रेमी एवं सामाजिक लोग आमंत्रित होंगे. फिर लोक नृत्यों का संस्कृत में प्रदर्शन, 10 नवम्बर को शास्त्रीय नृत्यों का प्रदर्शन सोनल मानसिंह जी के नेतृत्व में होगा. ये कार्यक्रम प्रतिदिन सायं 7.30 बजे से 8.30 बजे तक होगा. ११ नबम्बर को “समाजपयोगी संस्कृत” विषय पर प्रातः परिचर्चा, मद्ध्यांह में विश्व में संस्कृत पर परिचर्चा सत्र, भारतीय प्राचीन ज्ञानपरम्परा और संस्कृत विषय पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी, स्वागत समिति के अध्यक्ष है डॉ. हर्ष वर्धन, संस्कृत भारती का कार्य 583 जिलों में है. और निम्न 17 देशों में संस्कृतभारती का कार्य चल रहा है . १ उत्तर अमेरिका २. कनाडा ३. यूरोप ४. इंग्लैंड ५. अफ्रीका ६. मारीशस ७. केन्या ८. अरब देश ९. UAE (दुबई, शारजाह, आबूधाबी रास-अल-खेमा-फुजेरा ), १०. क़तर ११. बहरीन १२. कुवैत १३. ओमान १४. दक्षिण पूर्व एशिया १५. सिंगापुर १६. इंडोनेशिया १७. ऑस्ट्रेलिया.
इनके अलावा कुछ अतिथि देश भी इस विश्वसम्मेलन का हिस्सा होंगे – रसिया, नेपाल, न्यूज़ीलैण्ड .
संस्कृत भारती के अन्य जानकारी के बारे में भी आपको बता दे कि संस्कृत भारती में १११ पूर्णकालीक कार्यकर्ता है और इसकी वेबसाइट है – samskritabharati.in , विश्वसम्मेलन हेतु – sbvishwa.in ,
ट्विटर हैंडल एवं instaagram ID – @sb_bharatiya, फेसबुक पेज – samskritabharati

One thought on ““संस्कृति भारती विश्वसम्मेलन” का आयोजन ९ से ११ नबम्बर तक दिल्ली में”

Leave a Reply

Your email address will not be published.