पीवी सिंधु ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप जीत रचा इतिहास

Priya Dixit – New Dehli  : भारत के लिए सुनहरा इतिहास लिखने वाली पीवी सिंधु का नाम आज हर जुबां पर है . इस स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी ने वर्ल्ड चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले में जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर इतिहास रचा दिया .

सिंधु पहली भारतीय खिलाड़ी हैं, जिसने वर्ल्ड चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक अपने नाम किया हो .अक्सर फाइनल मुकाबलों में चूकने वाली पीवी सिंधु जब रविवार को कोर्ट पर उतरीं तो वह एक अलग ही अंदाज में दिखीं उन्होंने पूरे मैच के दौरान ओकुहारा पर अपना दबदबा बनाए रखा और इस जापानी खिलाड़ी को कहीं से भी मैच में वापसी का कोई मौका नहीं दिया . मात्र 37 मिनट में ही उन्होंने 21-7, 21-7 से वर्ल्ड चैंपियन का खिताब अपने नाम कर लिया .

आज से 6 साल पहले साल 2013 में सिंधु ने पहली बार वर्ल्ड चैंपियनशिप से ही वर्ल्ड बैडमिंटन में अपनी पहचान बनाई थी। सीनियर लेवल पर सिंधु ने पहली बार इसी टूर्नमेंट में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था .

2016 ओलिंपिक में सिल्वर मेडल जीतकर अपने नाम की सनसनी मचा दी . उन्होंने यह बता दिया कि जल्दी ही भारत ओलिंपिक खेलों में बैडमिंटन से भी गोल्ड हासिल कर सकेगा . वर्ल्ड बैडमिंटन में अब भारत का दबदबा लगातार बन रहा है . 2012 ओलिंपिक में साइना नेहवाल ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था और इसके बाद 2016 में रियो ओलिंपिक के फाइनल में पहुंचकर सिंधु ने भारतीय फैन्स के जोश को और बढ़ा दिया .

इस जीत से पहले सिंधु बड़े मैचों के फाइनल में पहुंचकर हार जा रही थीं .पर रविवार को इस स्टार खिलाड़ी की ऐतिहासिक जीत सिर्फ उनके लिए ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए प्रेरणा है . चारों तरफ से उन्हें बधाई मिल रही है . सिंधु आज बुलंदियों पर हैं। वह अतुलनीय हैं, अदभुत हैं .

Leave a Reply

Your email address will not be published.