मुसीबत में फसें लोगो के लिए फरिस्ते बने जवान

Vinayak  Mumbai : देश के कई हिस्से इस समय कुदरत की मार झेल रहे हैं  केरल, कर्नाटक, गुजरात और महाराष्ट्र में विनाशलीला से जूझते लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन किया जा रहा है और राहत सामग्री भी बांटी जा रही है . एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिसकर्मी, नौसेना और थल सेना के जवान सभी मदद के लिए आगे आए हैं  जहां ये जवान जान जोखिम में डालकर लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचा रहे हैं और अपना फर्ज निभा रहे हैं . इन ‘इंसानी फरिश्तों’ के साहस और समर्पण की जमकर तारीफ भी हो रही है .

गुजरात बाढ़ में फंसी बच्चियों को बचाने के लिए एक पुलिसकर्मी ‘बाहुबली’ बन गया . पुलिसकर्मी ने बच्चियों को अपने दोनों कंधों पर बिठाया और कमर तक भरे पानी में चलकर डेढ़ किमी का रास्ता तय किया . मोरबी के इस पुलिस कॉन्स्टेबल का नाम पृथ्वीराज सिंह जडेजा है जिनके साहस और समर्पण की हर कोई तारीफ कर रहा है

केरल के मलप्पुरम और वायनाड में पिछले हफ्ते बड़े भूस्खलन के मलबे में कई लोग दब गए थे . वहां लगातार भारी बारिश के चलते कई बार रेस्क्यू ऑपरेशन बाधित हुआ लेकिन सेना के जवानों ने अपना काम जारी रखा . भारी बारिश और बाढ़ में उन्होंने कई लोगों को सुरक्षित बचा लिया .

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में बॉम्बे इंजिनियर ग्रुप की चार टीमों ने भारतीय सेना की कई टीमों के साथ मिलकर 5 हजार से अधिक लोगों को बचाया . इसमें बच्चों, बूढ़ों और बीमार को प्राथमिकता दी गईमहाराष्ट्र के सांगली के गांव राजापुर में बाढ़ से बचाने आए ‘भाइयों’ को महिलाओं ने राखी बांधी . महिलाओं ने कहा कि जब सारी उम्मीदें टूट गई थीं उस वक्त भारतीय सेना के जवानों ने उनकी रक्षा करके अपना धर्म निभाया है .

One thought on “मुसीबत में फसें लोगो के लिए फरिस्ते बने जवान”

Leave a Reply

Your email address will not be published.