धोनी करेंगे देश के दुश्मनों का सफाया

इसे Leader कहते हैं। माही… सिर्फ एक नाम नहीं … देश के सच्चे हीरो हैं और इसी को पुख्ता करता है धोनी का एक और फैसला।

माही  ने बहुत पहले फैसला कर लिया था कि वर्ल्ड कप के खत्म होने के बाद वो आर्मी के ट्रेनिंग कैंप को ज्वाइन करेंगे,और बटालियान का हिस्सा होंगे,धोनी ने इसके लिए विंडीज़ दौरे की भी कुर्बानी दे दी| धोनी अपनी बटालियन के लिए एक आम ऑर्मी ऑफिसर की तरह ही ड्यूटी निभाएंगे| और उन्होंने किसी स्पेशल ट्रीटमेंट की मांग नहीं की है | बल्कि धोनी खुन बॉर्डर की निगेहबानी करेंगे,वो दिन और रात की परवाह किए बैगर वह आर्मी को अपनी सेवाएं देंगे |और ऐसी सुरक्षा देंगे कि परिंदा भी पर ना मार सकें

महेंद्र सिंह धोनी 31 जुलाई से 15 अगस्त तक आर्मी के साथ ट्रेनिंग करेंगे |धोनी 106 टेरिटोरियल आर्मी बटालियन के साथ जुड़ेंगे
ये यूनिट कश्मीर में है |और विक्टर फोर्स का हिस्सा है|धोनी को आर्मी हेडक्वॉर्टर से पहले ही ग्रीन सिग्नल मिल चुका है
महेंद्र सिंह धोनी आर्मी में ऑनरी लेफ्टिनेंट कर्नल हैं,और उनका दिल हर वक्त सिर्फ देश के लिए धड़कता है|

धोनी आर्मी की पैरा रेजिमेंट में पैट्रोलिंग करते नज़र आएंगे इस दौरान धोनी आर्मी के गार्ड की भी ज़िम्मेदारी निभाएंगे
वहीं धोनी हमेशा जवानों के साथ सीमा पर मुस्तैद रहेंगे धोनी की पैट्रोलिंग किसी आम जवान की तरह ही मुश्किलों से भरी होने वाली है | क्योंकि उनकी तैनाती ज़्यादातर आंतकवाद प्रभावी इलाके में रहेगी| जहां आतंकवादियों ने पिछले कुछ सालों में बड़ा घटनाओं को अंजाम दिया है| और जहां ज़रा सी चूक जान पर भारी पड़ सकती है|

ऐसे में धोनी के लिए आने वाले दिन चुनौतियों से भरे रहने वाले हैं |उन्हें ना सिर्फ चौकन्ना रहना है |बल्कि देश की सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखना है|धोनी जिस विक्टर फोर्स का हिस्सा हैं वो एक आतंकवाद विरोधी दस्ता है जो ज़्यादातर अनंतनाग, पुलवामा और बड़गाम में देश की निगहबानी करता है

ये पहला मौका है जब धोनी कश्मीर घाटी में बतौर आर्मी अफसर तैनान होने वाले हैं| और माना जा रहा है कि धोनी ने इस इलाके की मांग खुद की थी| धोनी को चैलेंज लेना काफी पंसद है| और इसलिए वो हर ज़िम्मेदारी को निभाने के लिए पूरी तरह से तैयार रहते हैं| खास बात ये हैं कि धोनी को पुलवामा में भी अपनी सेवाएं देनी है| जहां साल की शुरुआत में एक बड़ा आतंकी हमला हुआ था| जिसमें देश ने 40 से ज़्यादा जवानों को खो दिया था| उस घाव को देश आज तक भूला नहीं हैं| और ऐसे में धोनी की पूरी कोशिश होगी की देश के दुश्मन भारत की तरफ आंख उठाकर भी ना देख सके,धोनी आर्मी के साथ कुल 45 दिन बिताने वाले हैं…इस दौरान धोनी आर्मी के साथ ही स्वतंत्रता दिवस भी मनाएंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published.