दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण बढ़ने के आसार बढे

 

Sunil Misra New Delhi :-  शुक्रवार शाम को दिल्ली में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश होने से मौसम में काफी सुधार देखने को मिला है लेकिन एयर क्वालिटी इंडेक्स में सुधार होने के बाबजूद यह शनिवार सुबह दिल्ली का औसत इंडेक्स AQI 242
था इसकी वजह ये भी ये है कि इस बार पिछली बार से ज्यादा पराली जलने की खबर है, लाख कोशिशों के बावजूद इस बार पराली जलाने के मामलों में काफी अधिक वृद्धि हुई है। जिसे देखते हुए घर से कम निकलने का सुझाव दिया गया है। सीपीसीबी ने जानकारी दी है कि इस बार पंजाब और हरियाणा में पिछले साल की तुलना में काफी अधिक पराली जलाई जा रही है। ऐसे में जब भी हवाओं का रुख बदलेगा, दिल्ली की स्थिति काफी अधिक खराब होगी। पिछले साल इन दोनों राज्यों में पराली जलाने के 1198 मामले सामने आए थे। इस बार अब तक 1631 मामले सामने आ चुके हैं। और अब 23 अक्टूबर के बाद यहां की हवा काफी खराब हो सकती है। सीपीसीबी टास्क फोर्स ने शुक्रवार को प्रदूषण पर चर्चा के लिए एक मीटिंग मे दिल्ली-एनसीआर के कॉरपोरेट, आईटी सेक्टर और संभव हो तो उन कंपनियों को अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम का सुझाव दिया है। जिससे सड़कों पर गाड़ियों की संख्या कम होगी। जहां यह सुझाव अमल में लाना संभव नहीं है, उन सेक्टरों को अपने कर्मचारियों को प्राइवेट गाड़ियों की बजाय पब्लिक ट्रांसपोर्ट या कार पूल कराने का सुझाव दिया है। सफर के मुताबिक वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से हवाओं की स्पीड बढ़ी है, जिसकी वजह से प्रदूषण कम हुआ है। लेकिन शनिवार शाम से यह दोबारा बढ़ना शुरू हो जाएगा। 23 अक्टूबर तक प्रदूषण का स्तर खराब या बेहद खराब स्तर पर रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.