हिमाचल में बारिश ने दिखाया अपना प्रकोप

Netvani  Beauro  : उत्तर भारत के कई इलाके भारी बारिश की चपेट में हैं .  हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में बारिश की वजह से कम से कम 40 से ज्यादा लोगों की मौत गई जबकि कई लोगों के लापता होने की खबर है . यमुना और उसकी सहायक नदियों का जलस्तर बढ़ने के कारण अब दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है . इसके बाद इन सभी राज्यों में मौसम विभाग का अलर्ट जारी किया गया है .

हिमाचल प्रदेश के सीएम जय राम ठाकुर ने राज्य में बाढ़ की स्थिति पर कहा है कि पिछले 2 दिनों में यहां भारी बारिश हुई है . यहां बाढ़ के कारण 22 लोगों की मौत हो गई है . पूरे मानसून सीजन में बारिश के कारण मरने वालों की संख्या 42 है . राज्यों को 574 करो़ड़ रुपए का नुकसान हुआ है . इसको लेकर विस्तृत रिपोर्ट बाद में आएगी . फिलहाल बाढ़ की स्थिति में सुधार हो रहा है .

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने उत्तराखंड को लेकर चेतावनी जारी की है . मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान कुमाऊं क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है .

उत्तराखंड में बीते 24 घंटों में बादल फटने, नदी नालों में उफान व भूस्खलन की घटनाओं में जानमाल की काफी क्षति हुई है . राज्य के अलग-अलग हिस्सों में 15 लोग नालों के उफान और मलबे के साथ बह गए .

हिमाचल प्रदेश के मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह के अनुसार प्रदेश के सभी जिलों में पिछले 24 घंटे के दौरान औसत 102.5 मिलीमीटर बारिश हुई वहीं, इससे पहले 14 अगस्त 2011 को 74 मिलीमीटर और 1950 में 100 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई थी . सबसे अधिक वर्षा  नैनादेवी में 330 मिलीमीटर हुई .

Leave a Reply

Your email address will not be published.