देश में लघु उद्यममियों के भी छूटे पसीने, आखिर कब जागेगी सरकार

छोटे उद्योग तबाही की ओर, कानून में बदलाव के लिए एसोसिएशन कोर्ट जाने को मजबूर

Sunil Misra  New Delhi :-  हाल ही में पूर्व प्रधानमंत्री मन मोहन सिंह ने सरकार की आर्थिक नीतियों पर सवाल खड़ा किया था उद्योग घरानो और इंडस्ट्री से जुड़े लोग इस आरोप को सरकार की नाकामी करार दे रहे थे हालांकि इस दौर में देश की जीडीपी में काफी कमी आई है मुंबई का शेयर बाज़ार का गिरना जारी है I इन सारे मामलों पर वित्त मंत्री का कोई ठोस जवाब भी नहीं आया है I इस बीच दिल्ली में छोटे उद्योग कर्मी के पास भी कई समस्याएँ सामने मुंह बाए खड़ी है
यह समस्या आज नार्थ इंडिया मॉड्यूल मैनुफैक्चरर्स एसोसिएशन नामक संगठन ने आज अपने छोटे छोटे उद्योगों में हो रही समस्याओं को प्रेस वार्ता के जरिये सरकार को यह बताने की कोशिश करते हुए कहा है की उनके व्यापार में हो रहे घाटे और नुक्सान का जल्द से जल्द समाधान निकाला जाए I और इस एसोसिएशन ने सरकार से मांग की है की हमारी मांगो पर विशेष रूप से ध्यान दे और हमारा समाधान निकाले I एसोसिएशन ने कहा की सरकार एक तरफ मेक इन इंडिया का नारा देकर देश में छोटे छोटे और व्यापार को बढ़ावा देने की बात करती है I और फिर दूसरी तरफ उद्योगों को और अपने MSME के व्यापार कराने के उद्देश्यों पर खरी नहीं उतरती है एसोसिएशन का कहना है की सरकार से इन उद्योगों को किसी प्रकार की सहूलियत नहीं मिलने के कारण सरकार का ध्यान इस और बिलकुल नहीं जाता I और उनका कहना है की सरकार अपना सारा ध्यान बड़े उद्योगों पर लगा रही है SEZऔर छोटे उद्योगों को ज्यादातर नुक्सान का सामना करना पड़ रहा है I और सरकार की इस अनदेखी की वजह से देश के अंदर अब छोटे उद्योगों के बंद होने का लगातार ख़तरा मंडरा रहा है I इससे न केवल छोटे छोटे उद्योग में खरीदीऔर n तबाह हो रहे रहे है बल्कि लाखों लोगो की रोज़ी रोटी का संकट भी खड़ा हो रहा है I
SEZ से DTE को अनुमोदित सोलर सेल / मॉड्यूल पर सेफ गार्ड ड्यूटी के संग्रहण के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में SEZ में खरीदी गयी वस्तुओं पर लगने वाली एंटी डंपिंग ड्यूटी संग्रह कानून में बदलाव के लिए एसोसिएशन की तरफ से एक रिट याचिका दायर की गयी है I हम सरकार से आग्रह करते है की हमारे इन उद्योगों के हिट में इन क़ानून में बदलाव करे I सरकार अगर करती है तो न केवल इससे जीडीपी में वृद्धि है कि बल्कि लाखो लोगो के रोज़ी रोटी के प्रबंध के साथ यही लोग बेरोज़गार होने से भी बच जाएंगे I

Leave a Reply

Your email address will not be published.