अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को आतंकवादी हमले की संभावना

Netvani Desk  :  पाकिस्तान में बैठे आतंकवादी, कश्मीर घाटी में अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं . इसके तुरंत बाद, जम्मू कश्मीर प्रशासन ने यात्रियों और पर्यटकों से घाटी की अपनी यात्रा में ‘‘कटौती करने’’ तथा तुरंत वापस जाने को कहा .

यात्रा मार्ग से हथियार और विस्फोटक बरामद होने की सूचना देते हुए सेना के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा बल तीर्थयात्रियों पर हमले के किसी भी प्रयास को विफल करने के लिए पूरी तरह से मुस्तैद हैं . यात्रा एक जुलाई को शुरू हुई थी और 15 अगस्त को संपन्न होगी .

सेना की 15वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने यह बयान ऐसे समय दिया है जब बीते कुछ दिन में सुरक्षा बलों की छापेमारी में अमरनाथ यात्रा मार्ग पर पाकिस्तान में बनी बारूदी सुरंग और भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं .

कोर कमांडर ने कहा कि पाकिस्तान और उसकी सेना कश्मीर घाटी में शांति बाधित करने की पूरी कोशिश में है . सुरक्षा बलों की संयुक्त टीमों ने पवित्र गुफा की तरफ जाने वाले बालटाल और पहलगाम मार्गों पर छानबीन की और बीते तीन दिन से जारी अभियान में हथियार, गोलियां और विस्फोटक सामग्री जब्त की .

पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ के प्रयास हो रहे हैं लेकिन इन प्रयासों को लगातार नाकाम किया जा रहा है . 30 जुलाई की एक घटना में, तीन आतंकवादियों को गुरेज सेक्टर में मार गिराया गया था . कल रात कुपवाड़ा सेक्टर में घुसपैठ का प्रयास किया गया . जम्मू से लेकर पठानकोट सेक्टरों में भी घुसपैठ हो रही है . यह अन्य देशों के जरिये, अन्य मार्गों के अलावा है . घुसपैठ कम नहीं हुई है, प्रयास किये जा रहे हैं लेकिन उनसे नियंत्रण रेखा पर ही निपटा जा रहा है .

सुरक्षा बल घाटी में लश्कर ए तैयबा और जैश के नेताओं को मार गिराने में कामयाब रहे  .

 

23 thoughts on “अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को आतंकवादी हमले की संभावना

Leave a Reply

Your email address will not be published.