सर में थी गोली डॉक्टर बनाया मामूली चोट का मेडिकल

Vinod Sharma  Noida : दनकौर में 6 दिन पहले सब्जी सप्लाई को लेकर हुए विवाद में जब गोलियां चलीं तो सब्जी विक्रेता शरीफ को लगा कि गोली उनके सिर को छूकर निकल गई है . जिला अस्पताल में चेकअप हुआ, उसमें भी कुछ नहीं आया . लेकिन अबतक शरीफ के सिर में दर्द बंद नहीं हुआ .वह फिर चेकअप के लिए दूसरे डॉक्टर के पास पहुंचे, जिसमें हैरान करनेवाली बात पता लगी . एक गोली उनके सिर में अबतक अटकी हुई है .

अब शरीफ और उनके परिवार ने जिला अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाया है . कहा गया है कि अस्पताल के डॉक्टरों ने सिर में फंसी गोली को गंभीरता से नहीं देखा और मामूली चोट का मेडिकल बना दिया . तबतक घायल और उनके परिवार को भी नहीं पता था कि सिर में गोली फंसी रह गई है . अब शुक्रवार को सबको यह पता लगा . इसके बाद पीड़ित के घरवालों ने मामले की शिकायत सीएमओ से की है

4 अगस्त को रीलखा गांव निवासी महेश के भतीजे एलकार पर सिकंदराबाद से गाड़ी में सब्जी भरकर लाते वक्त कनारसी गांव के बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की थी . घटना के वक्त रीलखा गांव का सब्जी विक्रेता शरीफ भी गाड़ी में बैठे थे वह सिर में गोली लगने से घायल हुए थे . पुलिस ने बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर घायल को मेडिकल के लिए भेजा था .

जिला अस्पताल में उनका ठीक से चेकअप नहीं हुआ .  फिर जब दर्द ज्यादा हुआ तो उन्होंने दूसरी जगह चेकअप करवाया . पीड़ित घरवालों ने बताया कि शरीफ के सिर में संक्रमण फैलने के बाद अन्य अस्पताल में दिखाने के बाद उन्हें सिर में गोली फंसे होने की जानकारी हुई .

आरोप है कि जिला अस्पताल के डाक्टरों ने मामूली चोट का मेडिकल बनाया है इस बारे में सीएमओ अनुराग भार्गव का कहना है कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी .

Leave a Reply

Your email address will not be published.