नरेंद्र मोदी को “फादर ऑफ इंडिया” की उपाधि- भड़के असदुद्दीन ओवैसी

विपक्षी दलों के नेताओं  ने ट्रंप के बयान की की आलोचना

Sunil Misra New Delhi :-  आज कल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के दौरे पर है और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी की निगाहें मंगलवार को होने वाली दूसरी मुलाकात पर थी इसी मुलाक़ात को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फादर ऑफ इंडिया की उपाधि मिलने से (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी का भड़कना दिखाई दिया और उन्होंने कहा कि ट्रंप को भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के बारे में नहीं पता है की गांधी जी को पिता की उपाधि हासिल है.
एक नज़र में देखा जाए तो इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस अमेरिकी दौरे के दौरान राष्ट्रपति ट्रंप से उनकी दूसरी मुलाकात मंगलवार को हुई. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच कल न्यूयॉर्क में द्विपक्षीय वार्ता हुई. दोनों नेताओं ने बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राष्ट्रपति ट्रंप ने मोदी की जमकर तारीफ की और उन्हें ‘फादर ऑफ इंडिया’ तक कह दिया. हालांकि उनके इस उपाधि को दिए जाने पर अब देश में विवाद बढ़ गया है और विपक्षी दलों के नेता ट्रंप के बयान की आलोचना कर रहे हैं.
कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फादर ऑफ इंडिया की उपाधि देने से इसका विरोध प्रकट किया है और ट्रंप की ओर से प्रधानमंत्री मोदी की तुलना अमेरिकी पॉप सिंगर और सुपरस्टार एल्विस प्रेस्ली से किए जाने पर ओवैसी ने कहा कि एल्विस प्रेस्ली गायक थे, हमारे प्रधानमंत्री भी मजमा जमाते हैं और यही दोनों में कनेक्शन है.
ओवैसी ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप को महात्मा गांधी जी के बारे में नहीं पता है. गांधी जी को पिता की उपाधि हासिल है. मोदी कभी भी राष्ट्रपिता नहीं बन सकते. उन्होंने कहा कि भारत एक बड़ा मुल्क है, लेकिन मोदी ने इसे हैफनेट कर दिया ये इनकी नाकामी है. आज भारत पाकिस्तान को एक साथ देखा जा रहा है.
ओवैसी से पहले कांग्रेस नेता ने डोनाल्ड ट्रंप के बयान का विरोध किया. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के बेटे और कर्नाटक सरकार में मंत्री रहे प्रियांक खड़गे ने ट्विटर पर डोनाल्ड ट्रंप के बयान का विरोध करते हुए लिखा कि तो क्या अब अमेरिकी तय करेंगे कि राष्ट्रपिता कौन है? अगर देखें तो इन फासीवादी लोगों ने हमारे लोगों को बौद्धिक रूप से तर्क देकर लूटा है. सोशल मीडिया के प्रोपेगेंडा ने मिलकर आने वाली पीढ़ियों को भी बिगाड़ दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.