जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने उमर अब्दुल्ला को बताया राजनीतिक नाबालिग

Netvani Buro  : राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार केा कहा कि मैने आतंकियों को सुरक्षाबलों पर हमला करने के बजाय राज्य में लूट खसूट करने वालों को निशाना बनाने के लिए यहां भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा से हताश और निराश होकर ही कहा है .बेशक एक राज्यपाल होने के नाते मुझे इस तरह की टिप्पणी नहीं करनी चाहिए . लेकिन मेरी निजी भावना वही है जो मैने कहा है . यहां बहुत से राजनीतिक नेता और वरिष्ठ नौकरशाह गले तक भ्रष्टाचार में पूरी तरह डूबे हुए हैं .

नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला द्वारा अपने ब्यान पर किए गए टवीट का हवाला देत हुए उन्होंने कहा कि अमर अब्दुल्ला तो अभी सियासी रुप से नासमझ और अपरिपक्व हैं . वह तो एक पोलिटीकल ज्यूवेनाइल हैं जो हर बात पर टवीट करते रहते हैं . आप उनके टवीट पर लोगों की प्रतिक्रिया देखें, आप समझ जाएंगे .

जम्मू-कश्मीर में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर दिए अपने बयान को लेकर सफाई देते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि जो कुछ उनकी जुबां से निकला था वो गुस्से का इजहार था क्योंकि वो राज्य में भ्रष्टाचार के बोल बाले से परेशान थे .

Leave a Reply

Your email address will not be published.