क्या “प्लास्टिक मुक्त दिल्ली” अभियान से मिल पाएगी सफलता

Last Updated on

 

Sunil Misra New Delhi  :-  डॉ. शोभा विजेन्द्र गुप्ता ने आज अपनी सामाजिक संस्था सम्पूर्णा द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के “स्वच्छ-भारत” के सपने को साकार करने के लिए “प्लास्टिक मुक्त दिल्ली” अभियान की शुरुआत की गई। यह अभियान पूरी दिल्ली में विधानसभा स्तर पर चलाया जाएगा एवं इसकी शुरुआत रोहिणी में “प्लास्टिक मुक्त रोहिणी” कार्यक्रम करके की गई। और सम्पूर्णा के बहनें रोहिणी के स्थानीय लोगों द्वारा पुराने कपड़ों को लेकर उसके बैग बनाकर लोगो को देकर रोहिणी को सबसे पहले प्लास्टिक मुक्त दिल्ली बनाने का अभियान चलाया गया है I 
डॉ. शोभा विजेन्द्र (अध्यक्षा संस्थापिका, सम्पूर्णा) का कहना है कि दिल्ली के बाद पूरे देश में चलाएंगे प्लास्टिक के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाएंगे : मनीष चौधरी (जोन चेयरमैन, रोहिणी जोन) का कहना है कि अपने सभी विभागों को प्लास्टिक “प्लास्टिक मुक्त दिल्ली” अभियान का सहयोग करने के लिए प्रेरित करूँगा
श्री विजेंद्र गुप्ता ने अपने विधान सभा में इस अभियान का हिस्सा बनने पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि दिल्ली को प्लास्टिक मुक्त करने में हर संभव सहयोग करूँगा। उपस्थित जनसमूह से आग्रह किया कि 14 से 17 सितम्बर तक मोदी जी के जन्मदिन के अवसर पर चलने वाले सेवा कार्यक्रम में भी आप सभी लोग हिस्सा लें। रोहिणी जोन चेयरमैन श्री मनीष चौधरी ने बताया कि हम अपने क्षेत्र में ज्यादातर प्लास्टिक की थैलियां बनाने वाली फैक्ट्रियों को सील करने का कार्य कर चुके है। मैं अपने सभी विभागों को भी” प्लास्टिक मुक्त दिल्ली” अभियान में बढ़-चढ़कर  हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करूंगा।
सम्पूर्णा संस्थापिका डॉ. शोभा विजेंद्र ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी के आह्वान के बाद सम्पूर्णा संस्था की पूरी टीम बहुत उत्साहित है और गर्वित भी है कि हम यह अभियान पिछले 5 वर्षों से चला रहे हैं। इसलिए अब सम्पूर्णा संस्था ने इस अभियान का क्षेत्र बढ़ाने का निर्णय लिया है। अब हम प्लास्टिक मुक्त दिल्ली से लेकर प्लास्टिक मुक्त भारत के विजन के साथ आगे बढ़ रहे हैं। श्री विजय मालिक और श्रीमती रिचा अनिरुद्ध भी कार्यकर्म में उपस्थित रहे।
देखने वाली बात है कि पिछले 5 साल से अभियान चल रहा है लेकिन आज तक सब्जी मण्डी, राशन के दुकानों, फल, अनाज, और समाज में हर जगह प्लास्टिक के थैले धड़ल्ले से बाज़ार में लोग हाथों में लेकर खुले आम घूम रहेहै क़ानून पुलिस, MCD NDMC जैसे भ्रष्ट विभागों के हाथों में है तो क्या प्लास्टिक मुक्त दिल्ली सफलता के कदम चूम पाएगी भविष्य बताएगा I

%d bloggers like this: