कोनरवा ने नॉएडा प्राधिकरण में रिक्त पदों पर नियुक्ति की उठाई मांग

कोनरवा नोएडा चैप्टर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र

Sunil Misra Noida :-    आज देश में सरकारी विभागों से काफी संख्या में सरकारी अधिकारी और कर्मचारी अपनी नौकरी के ३५-४० साल गुज़ार कर रिटायर (सेवानिवृत) हो चुके है और कुछ रिटायर (सेवानिवृत) हो रहे है लेकिन उनकी अनुपस्थिति में अभी तक सरकार ने कोई नया कर्मचारी नही नियुक्त किया है जिससे सरकारी विभागों में अब वही जिम्मेदारी पुराने और जूनियर अधिकारियों के ऊपर आ गयी है I लेकिन उनके सक्षम न होने के कारण जनता के काम आधार में लटक गए है और लोग दफ्तरों में काम न होने से परेशान है I
उत्तर प्रदेश प्रशासन में नॉएडा प्राधिकरण के विभिन्न विभागों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कमी से कॉलोनी एवं सोसाइटी के विकास में रुकावट बनी हुए है और सरकार का ध्यान कहीं और भटक गया है I
आज कोनरवा नोएडा चैप्टर द्वारा माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को पत्र लिखकर नोएडा प्राधिकरण में लगातार अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सेवानिवृत्त होने के कारण सभी विभागों में काफी अधिक पद रिक्त पड़े हुए हैं । पिछले कई वर्षों से अधिकारियों एवं कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं हुई है ,जिसके कारण वर्तमान में कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर अत्यधिक दबाब एवं भार पड़ रहा है, इसी कारण से नोएडा के विकास कार्य रुक से गए हैं। नोएडा प्राधिकरण का गठन 1976 में किया गया था जिसके बाद 2004 तक नियुक्तियां की गई । प्राधिकरण में इस समय लगभग 60% प्रतिशत पद रिक्त पड़े हुए हैं। पहले नोएडा में विकसित सेक्टर बहुत कम थे और प्राधिकरण में स्टाफ उचित अनुपात में था ,लेकिन अब नोएडा की जनसंख्या, इंडस्ट्रीज आईटी सेक्टर, इंस्टिट्यूशन ,मार्केट एवं सेक्टर बहुत अधिक बढ़ गए हैं, जिसकी देखरेख के लिए स्टाफ बहुत कम रह गया है जिसके लिए जल्द से जल्द रिक्त पदों पर नियुक्तियां करके नोएडा के विकास कार्यो को गतिशील किया जाना अतिआवश्यक है ।
कोनरवा नोएडा चैप्टर के कन्वीनर ब्रिगेडियर अशोक हाक ने माननीय मुख्यमंत्री जी ,माननीय उद्योग मंत्री ,मुख्य सचिव एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया को पत्र लिखकर नोएडा प्राधिकरण में रिक्त पदों पर जल्द से जल्द नियुक्तियां कराने की मांग की है।

वा ने नॉएडा प्राधिकरण में रिक्त पदों पर नियुक्ति की उठाई मांग

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.