कहानी उन सितारों की जिन्हें कभी दुत्कारा गया

वॉलीवुड की चमक-दमक… आलिशान जिंदगी… करोड़ों चाहने वाले….कहते हैं ना, क्या गम है वहां पर… सफलता है… पैसा है शोहरत है… और इंसान को चाहिए क्या जिंदगी में… जब टैलेंट हाथ में हो और सफलता कदमों में।

लेकिन हकिकत यह है कि सफलता के पीछे एक घना अंधेरा भी होता है। लोग आपको दुत्कारते हैं … भगाते है और काम न देने के पीछे तरह-तरह के बहाने बनाते हैं।

आज के इस एपिसोड में हम आपको कुछ सफल चेहरों के पीछे की काली सच्चाई बताएगें। इन सबमें पहला नाम है बिग बी यानि अमिताभ बच्चन की।

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को भी अपने करियर के शुरूआती दौर में काफी स्ट्रगल का सामना करना पड़ा था. फिल्मों में आने के पहले भी अमिताभ ने संघर्ष किया। फिल्मों में आने के बाद उनकी संघर्ष की राह और कठिन हो गई। उन्होंने जो फिल्में की वे बुरी तरह फ्लॉप हो गईं। कई लोगों ने उन्हें घर लौट जाने की या कवि बनने की सलाह भी दे डाली। ‘जंजीर’ के हिट होने के पहले तक उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ा।
हद तो तब हुई जब उन्हें एआईआर ने रिजेक्ट किया था जब वे रेडियो जॉकी बनना चाहते थे. अमिताभ का इंटरव्यू लेने वाले शख्स ने पीटीआई के साथ बातचीत में कहा था कि मेरे पास उस पतले शख़्स के लिए बिल्कुल समय नहीं था. उन्होंने इंतजार किया और चले गए लेकिन इसके बाद भी वे कुछ कुछ समय में आते रहे लेकिन मैं उन्हें रेडियो जॉकी के तौर पर नहीं देख पा रहा था और उन्हें लगातार अपाइन्टमेंट लेकर आने के लिए कह रहा था.
संघर्ष के दिनों में अमिताभ को मॉडलिंग के ऑफर मिल रहे थे, लेकिन इस काम में उनकी कोई रुचि नहीं थी। जलाल आगा ने एक विज्ञापन कंपनी खोल रखी थी, जो विविध भारती के लिए विज्ञापन बनाती थी। जलाल, अमिताभ को वर्ली के एक छोटे से रेकॉर्डिंग सेंटर में ले जाते थे और एक-दो मिनट के विज्ञापनों में वे अमिताभ की आवाज का उपयोग किया करते थे। प्रति प्रोग्राम पचास रुपए मिल जाते थे। उस दौर में इतनी-सी रकम भी पर्याप्त होती थी, क्योंकि काफी सस्ता जमाना था। वर्ली की सिटी बेकरी में आधी रात के समय टूटे-फूटे बिस्कुट आधे दाम में मिल जाते थे। अमिताभ ने इस तरह कई बार रातभर खुले रहने वाले कैम्पस कॉर्नर के रेस्तराओं में टोस्ट खाकर दिन गुजारे और सुबह फिर काम की खोज शुरू।

2. नवाजुद्दीन सिद्दीकी की कहानी कई लोगों के लिए प्रेरणा है. हालांकि उन्हें अपने करियर में कई रिजेक्शन्स झेलने पड़े हैं. कई बार उन्हें नस्लभेदी कमेंट्स भी सुनने को मिलते थे. नवाज ने अपने इंटरव्यू में बताया है कि उनके स्किन कलर के चलते उन्हें कई बार फिल्म में नहीं लिया गया है और उन्हें लोगों से कई बार अपने रंग को लेकर काफी कुछ सुनना पड़ता था.

3. हीरोपंती में टाइगर श्रॉफ के साथ अपने करियर की शुरूआत करने वाली कृति सेनन ने एक अखबार के साथ बातचीत में कहा था कि एक बार उसे रिजेक्ट कर दिया गया था। कई बार ऐसा होता था कि कुछ लोग मुझे आकर कहते थे कि मेरे बारे में कुछ तो ऐसा है जो ठीक नहीं है। कुछ लोग कहते थे कि मैं ज्यादा ही गुड लुकिंग हूं जिसके चलते मैं स्क्रीन पर रियल नहीं लगती हूं. कई बार मुझे बुरा लगता था लेकिन कई ऐसे लोग भी थे जिन्होंने मुझ पर विश्वास जताया.

4.फिल्म गली बॉय में अपनी एक्टिंग से चर्चा में आए सिद्धार्थ चतुर्वेदी ने इंटरनेशनल फिल्म मिलियन डॉलर आर्म के लिए ऑडिशन दिया था. पीटीआई के साथ एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि मैंने उस फिल्म के लिए ऑडिशन दिया था. वे दो इंडियन लड़कों की तलाश में थे जो बेसबॉल खेलते थे. जब मैंने इस रोल के लिए ऑडिशन दिया था तो उन्हें मुझे रोल के लिए अपमार्केट बताया और कहा था कि मैं इस रोल के लिए ज्यादा गोरा हूं.

5.राधिका आप्टे ने पिछले कुछ समय में कई बेहतरीन फिल्मों और वेब सीरीज़ में काम किया है. हालांकि उन्हें आयुष्मान खुराना की डेब्यू फिल्म विकी डोनर के लिए रिजेक्ट होना पड़ा था. उन्होंने मिड डे के साथ बातचीत में कहा था कि मैं एक महीने के लिए छुट्टियों के लिए गई थी, वहां मैंने काफी बीयर पी, काफी खाना खाया. मैंने उन्हें कहा था कि मैं वापस आकर अपना वजन घटा लूंगी लेकिन उन्होंने चांस नहीं लिया और राधिका को विकी डोनर से हाथ धोना पड़ा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.