अखिल भारतीय संत समिति की श्री राम जन्मभूमि पर न्याय विमर्श बैठक संपन्न

मंदिर निर्माण पर अटल है अखिल भारतीय संत समिति

Sunil Kumar New Delhi  : –  अखिल भारतीय संत समिति द्वारा दिल्ली में एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में श्री राम जन्मभूमि न्याय विमर्श नामक एक महत्त्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया जिसमे हिन्दुस्तान के महत्वपूर्ण साधू संतों ने शामिल हो कर अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया I और कुछ विशेष विषयों पर विस्तार पूर्वक चर्चा हुई I
संत समिति द्वारा देश में प्रधान मंत्री और गृहमंत्री द्वारा किये गए साहसिक कार्यों पर उन्हें साधुवाद भी दिया गया और निम्न प्रस्तावों पर विवरणात्मक तौर पर चर्चा हुई I
                         प्रस्ताव क्रमांक – 1
अखिल भारतीय संत समिति भारत सरकार के यशस्वी प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में एवं यशस्वी गृहमंत्री श्री अमित भाई शाह जी द्वारा जम्मू कश्मीर राज्य के अंदर लागू धारा 370, 35 A को समाप्त किये जाने पर दृदय से साधुवाद देती है और यह विश्वास व्यक्त करती है की जिस प्रकार भारत राष्ट्र के विभिन्न राज्य विभिन्न अंग है I उसी प्रकार एक जान, एक राष्ग्ट्र एक क़ानून की दिशा में यह महत्वपूर्ण कदम भारत के एकता और अखंडता को मजबूत करते हुए कश्यप ऋषि की पवित्र भूमि कश्मीर से आतंकवाद को जड़ से समाप्त कर पूरे राज्य में शान्ति एवं सद्भाव का वातावरण उत्पन्न करने में सहायक सिद्ध होगी I
प्रस्ताव क्रमांक – २
अखिल भारतीय संत समिति भारत के सर्वोच्च न्यायालय को दृदय से साधुवाद देती है की लम्बे समय से श्री राम जन्मभूमि के वाद में किसी न किसी कारण से टल रही सुनवाई को प्रतिदिन पूरे समय सुनने का निर्णय लेकर मुख्य न्यायाधीश सर्वोच्च न्यायालय ने बहुत ही साहसिक एवं पवित्र कदम उठाया है I
अखिल भारतीय संत समिति आशा ही नहीं विश्वास करती है की आयगामी एक से दो महीने में देश के इस प्रमुख विषय का समाधान उच्चतम न्यायालय के द्द्वारा कर दिया जाएगा I

हम उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से यह आग्रह करते है की बिना किसी कबाब के सप्ताह के पांचो दिन और पूर्ण समय की सुनवाई को जारी रखेंगे
अखिल भारतीय संत समिति की बैठक के विचारणीय विषय
1. श्री राम जन्मभूमि 2. सबरीमाला का विषय
3. रामसेतु रक्षा हेतु सरकार द्वारा किये गए प्रयासों की चर्चा 4. मठ मंदिरों की व्यवस्था में सरकारों द्वारा अनावश्यक हस्तक्षेप 5. धर्मांतरण रोकने हेतु क़ानून पर चर्चा 6. जम्मू कश्मीर में ९० के दशक में तोड़े गए ४३५ मंदिरों के पुनर्निर्माण के सम्बन्ध में चर्चा 7. विवादित ढांचा विध्वंश केस बनाम जम्मू कश्मीर के टूटे हुए मंदिरों पर अपराधियों पर मुकदमा कायम न किया जाना.
8. सुप्रीम कोर्ट के सवैधानिक बेंच का फैसला अल्पसंख्यक कौम को परिभाषित करने की मांग
9 . विभिन्न न्यायालयों द्वारा जजों का व्यक्तिगत हिन्दू द्रोह क़ानून से ऊपर उठ कर फैसले देने की प्रवृति पर चर्चा
10 . राष्ट्रीय नदी गंगा जी संरक्षण क़ानून की चर्चा
10 .09 .2019

Leave a Reply

Your email address will not be published.